ब्रेकिंग न्यूज़ जेटली मानहानि केस में केजरीवाल समेत 6 AAP नेताओं पर आरोप तय, चलेगा ट्रायल                जूनियर को फॉरेन सेक्रेटरी बनाए जाने से बासित नाराज, PAK ढूंढ रहा रिप्लेसमेंट                यूपी: सीतापुर में आग से जले 9 घर, 2 लाख का सामान जलकर हुआ खाक                    
प्रदेश में आरक्षण का नया मॉडल रोस्टर जारी
सरकारी पदों में भर्ती में आरक्षण का कुल प्रतिशत 75 हुआ
सामान्य गरीबों को दस प्रतिशत आरक्षण देने के कारण बदला रोस्टर
डॉ. नवीन जोशी
भोपाल।राज्य सरकार ने प्रदेश में आरक्षण का नया मॉडल रोस्टर जारी कर दिया है। इससे अब सरकारी पदों में भर्ती में आरक्षण का कुल प्रतिशत 75 हो गया है। सामान्य वर्ग के गरीबों को दस प्रतिशत आरक्षण दिये जाने के कारण यह रोस्टर जारी किया गया है।
सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा मप्र लोक सेवा अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों और अन्य पिछड़ा वर्गों के लिये आरक्षण नियम 1998 में संशोधन जारी किया। यह संशोधन सीधी भर्ती के द्वारा प्रथम, द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के पदों को भरने हेतु बने मॉडल रोस्टर में किया गया है। पहले उक्त नियमों के तहत अनुसूचित जातियों के लिये 16, अनुसूचित जनजातियों के लिये 20 तथा अन्य पिछड़ा वर्गों के लिये 14 प्रतिशत आरक्षण का रोस्टर था। कमलनाथ सरकार ने अन्य पिछड़ा वर्गों के लिये आरक्षण 14 से बढ़ाकर 27 प्रतिशत किया तथा केंद्र सरकार ने सामान्य गरीबों को 10 प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान किया। 19 अगस्त 2019 को राज्य सरकार ने आरक्षण का जो रोस्टर जारी किया था उसमें सामान्य गरीबों को दिये दस प्रतिशत आरक्षण शामिल नहीं था। इसीलिये राज्य सरकार को अब सामान्य गरीबों के आरक्षण को शामिल करते हुये नया मॉडल रोस्टर जारी करना पड़ा है। इससे प्रदेश में अब आरक्षण का कुल प्रतिशत 75 हो गया है। मात्र 25 प्रतिशत पदों पर ही सामान्य वर्ग को लाभ मिल सकेगा।
क्या होता है रोस्टर :
रोस्टर के आधार पर ही सीधी भर्ती के पदों पर भर्ती होती है। रोस्टर के माध्यम से हर विभाग को पदों का आरक्षण के हिसाब से पदों का चिन्हांकन करना होता है। नया मॉडल रोस्टर बनने से अब ये भर्तियां इसी रोस्टर के हिसाब से की जायेंगी।
विभागीय अधिकारी ने बताया कि इस साल मार्च में अन्य पिछड़ा वर्ग का आरक्षण 14 से बढक़र 27 हुआ था और इसके बाद जुलाई में सामान्य गरीबों को दस प्रतिशत आरक्षण का प्रावधान अमल में आया। पहले ओबीसी वाले आरक्षण में हुये बदलाव पर रोस्टर जारी हो गया था परन्तु इसमें सामान्य गरीबों के आरक्षण का प्रावधान नहीं था। इसीलिये नये सिरे से मॉडल रोस्टर जारी किया गया है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को
यौन उत्पीडऩ प्रकरणों में प्राटोकाल
का अक्षरश: पालन करने के निर्देश
भोपाल।राज्य के स्वास्थ्य संचालनालय ने प्रदेश के सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों एवं सिविल सर्जनों को निर्देश जारी कर कहा कि वे यौन उत्पीडऩ के प्रकरणों में जांच एवं दस्तावेजीकरण हेतु भारत सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों एवं प्रोटोकाल का अक्षरश: पालन करें। निर्देशों में बताया गया है कि यौन उत्पीडऩ के शिकार व्यक्ति की मेडिकल जांच निर्धारित प्रपत्र के अनुसार करें तथा टु फिंगर जांच बिल्कुल न करें क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने इस पर प्रतिबंध लगाया हुआ है।
    
राज्य कर्मचारी आयोग के लिये पदों की स्वीकृति जारी
आयोग का कार्यालय एवं वाहन की व्यवस्था भी की
भोपाल।राज्य सरकार ने गत 12 दिसम्बर 2019 को शासकीय सेवकों की सेवा शर्तों के निर्धारण के लिये गठित राज्य कर्मचारी आयोग में पदों की स्वीकृति जारी कर दी है।
राज्य के वित्त विभाग द्वारा जारी स्वीकृति के अनुसार,  आयोग में कुल 14 पद होंगे। इनमें उप सचिव प्रतिनियुक्ति/संविदा, अवर सचिव प्रतिनियुक्ति/संविदा, सहायक लेखा अधिकारी प्रतिनियुक्ति/संविदा, 3 निज सहायक के पद प्रतिनियुक्ति/संविदा/आउटसोर्स, सहायक ग्रेड-1 प्रतिनियुक्ति/संविदा, सहायक सह डाटा एन्ट्री आपरेटर के 3 पद प्रतिनियुक्ति/संविदा/आउटसोर्स तथा भृत्य के 4 पद आउट सोर्स से भरे जायेंगे। 
आयोग का कार्यालय भोपाल के गोमांतिका परिसर जवाहर चौक में बनाया गया है। आयोग में पदस्थ अध्यक्ष, सदस्य एवं सचिव के लिये किराये से वाहन की व्यवस्था का काम संचालनालय वित्तीय सूचना प्रबंधन प्रणाली भोपाल को सौंपा गया है।
ये हैं आयोग में अध्यक्ष एवं सदस्य :
आयोग के अध्यक्ष रिटायर्ड आईएएस अजय नाथ बनाये गये हैं जबकि रिटायर्ड जिला एवं सत्र न्यायाधीश योगेश कुमार सोनगरिया, राज्य योजना आयोग के सलाहकार अखिलेश कुमार अग्रवाल तथा कर्मचारी नेता वीरेन्द्र खोंगल सदस्य बनाये गये हैं। वित्त विभाग के रिटायर्ड अपर सचिव मिलिंद वाईकर आयोग के सचिव नियुक्त किये गये हैं।
छग की राज्यपाल अनुसुईया उइके 18 को भोपाल आयेंगी
भोपाल।छत्तीसगढ़ की राज्यपाल सुश्री अनुसूईया उईके अपने गृह प्रदेश की राजधानी भोपाल में तीन दिवसीय प्रवास पर आ रही हैं। वे 18 जनवरी को शाम 6 बजे एयर इंडिया की नियमित उड़ान से भोपाल आयेंगी और रात्रि विश्राम भोपाल के राजभवन में करेंगी। 19 जनवरी को सुबह 11.30 बजे वे आदिवासी सेवा मंडल भोपाल द्वारा एमपी नगर में आयोजित युवक-युवती परिचय सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रुप में भाग लेंगी। शाम का समय विशिष्ट एवं आमजनों से मुलाकात का रहेगा। 20 जनवरी को वे नेहरू युवा केन्द्र भोपाल द्वारा श्यामला हिल्स पर आयोजित पुरूस्कार वितरण एवं सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि के रुप में शामिल होंगी।
डॉ. नवीन जोशी
Advertisment
 
Copyright © 2017-18 AAJ SAMACHAR - बुलंद आवाज़ दबंग अंदाज़.